जहाँगीरपुर  

रविन्द्र प्रसाद (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 14:52, 10 सितम्बर 2012 का अवतरण (''''जहाँगीरपुर''' ओड़छा ([[मध्य प्रदे...' के साथ नया पन्ना बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

जहाँगीरपुर ओड़छा (मध्य प्रदेश) का ही परिवर्तित नाम था। ओड़छा नरेश वीरसिंह देव ने, जिनकी मुग़ल सम्राट जहाँगीर से बहुत मैत्री थी, ओड़छा को फिर से बसाकर उसका नाम जहाँगीरपुर रखा था, किन्तु यह नाम अधिक दिनों तक नहीं चला।[1]

  • वीरसिंह देव ने एक नए महल का नाम भी 'जहाँगीर महल' रखा था।
  • बादशाह अकबर के शासन काल में वीरसिंह देव ने ही 'सलीम' (बाद में जहाँगीर) के कहने से अकबर के प्रिय मंत्री और मित्र अबुल फ़ज़ल की हत्या कर दी थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 361 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जहाँगीरपुर&oldid=291556" से लिया गया