डांग नृत्य  

रविन्द्र प्रसाद (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 19:43, 16 अप्रॅल 2014 का अवतरण (''''डांग नृत्य''' स्त्री तथा पुरुषों का एक युगल नृत्य है, ...' के साथ नया पन्ना बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

डांग नृत्य स्त्री तथा पुरुषों का एक युगल नृत्य है, जो राजस्थान के अंचलों में किया जाता है। यह नृत्य हिन्दुओं के प्रसिद्ध त्योहार 'होली' पर किया जाता है।

  • यह राजस्थान के नाथद्वारा क्षेत्र में विशेष रूप से किया जाने वाला नृत्य है।
  • इस नृत्य में स्त्री-पुरुष समान रूप से भाग लेते हैं।
  • डांग नृत्य एक प्रकार का युगल नृत्य है, जो 'होली' के अवसर पर किया जाता है।
  • इसमें पुरुष भगवान श्रीकृष्ण व स्त्री राधा का रूप धारण कर नृत्य करते हैं।
  • डांग नृत्य में ढोल, मांदल, थाली आदि वाद्य यंत्रों का प्रयोग किया जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=डांग_नृत्य&oldid=487088" से लिया गया