मंझीरा  

रविन्द्र प्रसाद (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 17:01, 5 जून 2015 का अवतरण

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

मंझीरा

मंझीरा झांझ का छोटा स्वरूप कहलाता है। यह धातु के गोल टुकड़े से बना होता है।

  • मंझीरा भजन गायन, जसगीत, फाग गीत आदि में प्रयोग होने वाला एक महत्त्वपूर्ण वाद्य है।
  • इसमें दो छोटी गहरी गोल मिश्रित धातु की कटोरियाँ होती हैं, जिनका मध्य भाग गहराई लिए होता है। इस गहरे भाग में छेद में डोरी डाल कर रखते हैं।
  • मंझीरा दोनों हाथ से बजाया जाता है।
  • परस्पर आघात करने से मधुर ध्वनि निकलती है।
  • मुख्य रूप से भक्ति एवं धर्मिक संगीत में ताल व लय देने के लिए झांझ, ढोलक और हारमोनियम के साथ इसको बजाया जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मंझीरा&oldid=530968" से लिया गया