रिजले  

व्यवस्थापन (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 18:56, 1 अगस्त 2017 का अवतरण (Text replacement - "पृथक " to "पृथक् ")

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

रिजले एक जनजाति का नाम है, जिसका सम्बन्ध द्रविड़ समूह से माना जाता है। दूसरी ओर हैडन, वेंकटाचार्य और डास्टन इन्हें पूर्व-द्रविड़ मानते हैं। मजूमदार इन्हें 'मिश्रित रक्त' का मानते हैं, जिनका मूल रूप राजपूतों के मिश्रण से पर्याप्त रूप से परिवर्तित हो गया है।

  • डॉक्टर गुहा की मान्यता है कि इनका सम्बन्ध प्रोटो-आस्ट्रेलॉयड प्रजातियों से रहा है, जो सांस्कृतिक दृष्टि से 'कोलरी समूह' का ही एक भाग है, क्योंकि इनकी भाषा 'द्रविड़ परिवार', तमिल और कन्नड़ का ही एक आदिरूप है।
  • ऐसी मान्यता है कि रिजले जनजाति के लोग पहले दक्षिणी भारत में राजवंश के रूप में रहते थे।
  • कालांतर में वहाँ से अपदस्थ होने एवं अन्य कुछ कठिनाइयों के कारण ये दो पृथक् समूहों में बंटकर उत्तर भारत की ओर प्रस्थान कर गये।
  • ये गोदावरी नदी के सहारे पहले चन्द्रपुर ज़िले में पहुँचे और वहाँ से इन्द्रावती नदी के संगम तक।
  • यहीं से इस समूह के दो भाग हो गये- 'एक बस्तर ज़िले में इन्द्रावती के सहारे' और 'दूसरा सतपुड़ा पर्वत की ओर बैनगंगा के सहारे'।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=रिजले&oldid=604607" से लिया गया