सेशन कला  

रिंकू बघेल (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 16:49, 13 अक्टूबर 2017 का अवतरण (''''सेशन कला/ नेत्रीय कला''' (Optical Art) दृश्य कला की एक शैली ह...' के साथ नया पृष्ठ बनाया)

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

सेशन कला/ नेत्रीय कला (Optical Art) दृश्य कला की एक शैली है। इस शैली द्वारा बनाया गया चित्र कुछ हिलता हुआ-सा प्रतीत होता है।

  • आधुनिक कला में Op Art (ऑप आर्ट) की शुरुआत वर्ष 1904 में विक्टर वासरली ने की।
  • इस कला में ज्यामितीय आकार के कुछ छोटे टुकड़ों की पच्चीकारी करके चित्र बनाया जाता है, जो हिलता हुआ प्रतीत होता है।
  • इस कला को 'नेत्रीय कला' भी कहा जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=सेशन_कला&oldid=609090" से लिया गया