खनक  

शब्द संदर्भ
हिन्दी 'खन' ध्वनि करते हुए बजने या टकराने की क्रिया या भाव, खनकने की क्रिया या भाव, चुड़ियों या आभूषणों आदि के बजने की मधुर ध्वनि, वाणी का तीखापन, भूमि आदि खोदने वाला।
-व्याकरण    पुल्लिंग, विशेषण, स्त्रीलिंग, धातु
-उदाहरण   कृष्ण की वाणी में प्रेम की खनक थी।
-विशेष   
-विलोम   
-पर्यायवाची    खनखनाना, खटखटाहट, खटखट, खटाका, खड़का, ठकठक, खुटखुट, आखनिक, खनन कर्ता, खनिता, खनिक, खातक, सुदैया, खंती, खनन, श्रनिक, बेलदार, मज़दूर।
संस्कृत खन् + वुन्
अन्य ग्रंथ
संबंधित शब्द
संबंधित लेख

अन्य शब्दों के अर्थ के लिए देखें शब्द संदर्भ कोश

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=खनक&oldid=117761" से लिया गया