छाक  

शब्द संदर्भ
हिन्दी छकने की क्रिया या भाव, वह भोजन जो दोपहर के समय खेत पर काम करने वाले व्यक्ति के लिए भेजा जाता है, चाट, भोजन, मदिरा व शराब आदि नशीले पदार्थ, मद, मद्यपान, ममता, मस्ती।
-व्याकरण    स्त्रीलिंग
-उदाहरण  

तेरे घर तौ सदां रहैं है, मेरैंहू कुटी में खेलैं
दूध मलाई माखन रबड़ी, भक्तन छाक सकेलै।

-विशेष   
-विलोम   
-पर्यायवाची    कलेवा, तोशा, पथाहार, संबल, तृप्ति, आभोग, चित्त, निवृत्ति, छकाव, तुष्टि, तोष, पूर्ति, मनस्तुष्टि, मनस्तृप्ति, संतुष्टि, संतृप्ति।
संस्कृत
अन्य ग्रंथ
संबंधित शब्द छकना
संबंधित लेख

अन्य शब्दों के अर्थ के लिए देखें शब्द संदर्भ कोश

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=छाक&oldid=117887" से लिया गया