तिरुपरनकुंद्रम  

तिरुपरनकुंद्रम मंदिर

तिरुपरनकुंद्रम तमिलनाडु राज्य के मदुरै शहर से 10 किमी दूर दक्षिण में स्थित भगवान 'मुरुगन' के छ: निवास स्थानों में से एक है।

  • तिरुपरनकुंद्रम में सालभर भक्तों का जमावड़ा लगा रहता है।
  • तिरुपरनकुंद्रम में मुरुगन का देवयानी के साथ विवाह हुआ था: इसलिए इस स्थान को शादी करने के लिए पवित्र माना जाता है।
  • चट्टानों से काटकर बनाए गए इस मंदिर में भगवान गणेश, शिव, दुर्गा, विष्णु आदि के अलग से मंदिर भी बने हुए हैं।
  • तिरुपरनकुंद्रम की सबसे बड़ी विशेषता यह है कि इसके सबसे भीतरी मन्दिर को एक ही चट्टान से काटकर बनाया गया है, जो पर्यटकों को काफ़ी लुभाता है।
  • इस मंदिर की एक और खूबी यहाँ के गुफ़ा मंदिर हैं, जिनमें तराशी गई भगवान की प्रतिमाएँ समान दूरी पर बनाई गई हैं।
  • इन प्रतिमाओं की समानता तथा सुन्दरता सभी को आकर्षित करती है।
  • गुफाओं तक आने के लिए संकरे अंधियारे रास्ते से होकर जाना पड़ता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

सुव्यवस्थित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=तिरुपरनकुंद्रम&oldid=428984" से लिया गया