नेपथ्य  

शब्द संदर्भ
हिन्दी नाटक के पर्दे के पीछे का स्थान, रंगमंच का वह भाग जो दर्शकों की दृष्टि से ओझल रहता है और जिसमें अभिनेता अपना रूप धारण करते हैं तथा सजते हैं, पहनने के कपड़े, रंग-भूमि, रंगशाला, सजावट, सज्जा।
-व्याकरण    पुल्लिंग, धातु
-उदाहरण  

मंच पर रोशनी, नेपथ्य में अंधेरा।
सारतत्त्व है यही मेरा।।

-विशेष    संस्कृत में नेपथ्य के अन्य अर्थ भी हैं-श्रृंगार सजावट, परिधान, वेश-भूषा, पोशाक, अभिनय करनेवाले की वेश-भूषा।
-विलोम   
-पर्यायवाची    गृह, वेश, बाना, भेष, स्वाँग।
संस्कृत नी+विच्+पथ्य
अन्य ग्रंथ
संबंधित शब्द
संबंधित लेख

अन्य शब्दों के अर्थ के लिए देखें शब्द संदर्भ कोश

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=नेपथ्य&oldid=613399" से लिया गया