मगरा भेड़  

मगरा भेड़ राजस्थान में अधिकांशतः जैसलमेर, बीकानेर, जोधपुर, पाली, चूरु और नागौर आदि में मुख्य रूप से पायी जाती है।

  • इस नस्ल की भेड़ की मुख्य पहचान यह है की इसकी आँखों के चारों ओर भूरे रंग के दाग़ होते हैं।
  • यह भेड़ प्रतिवर्ष औसतन 2 किलोग्राम तक ऊन देती है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मगरा_भेड़&oldid=331557" से लिया गया