रंजक  

शब्द संदर्भ
हिन्दी रँगने का काम करने वाला, हर्ष देने वाला, प्रायः आनंद-मंगल करने और प्रसन्न रहने वाला, रंगराज़, पेंटर, मेंहदी, सिन्दूर, वस्त्र आदि को रँगने में उपयोगी पदार्थ जिसे उसके विलयन में से सूती, रेशमी आदि वस्त्रों के रेशे अवशोषित कर लेते हैं।
-व्याकरण    विशेषण, पुल्लिंग
-उदाहरण   रक्‍त की लाली, त्‍वचा का रंग, आँखों की पुतलियों का रंग, रंगनें के कार्य को रंजक कहते है।
-विशेष   
-विलोम   
-पर्यायवाची    अभिनंदक, आनंद, वर्धक, प्रियकर, सुनंदन
संस्कृत रज्+णिच्+ण्वुल्
अन्य ग्रंथ
संबंधित शब्द रंजन
संबंधित लेख

अन्य शब्दों के अर्थ के लिए देखें शब्द संदर्भ कोश

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=रंजक&oldid=303486" से लिया गया