शार्दूल  

शब्द संदर्भ
हिन्दी चीता, बाघ, समस्त पद के अंत में प्रयुक्त होने पर श्रेष्ठ, उत्तम, चित्रक या चीता नामक वृक्ष, दोहे का एक भेद जिसमें 6 गुरु और 36 लघु मात्राएँ होती हैं, सर्वश्रेष्ठ, एक प्रकार का पक्षी।
-व्याकरण    पुल्लिंग, धातु
-उदाहरण   नरशार्दूल, छन्द एक समवर्णिक छन्द जिसके प्रत्येक चरण में क्रमश: मगण, सगण, जगण, रगण, और मगण, (म स ज स र म) के योग से 17 वर्ण होते हैं तथा 12-6 पर यति होती है।
-विशेष    उक्त व्युत्पत्ति में दीर्घ ऋकार से युक्त धातु शृ समझनी चाहिए।
-विलोम   
-पर्यायवाची    शाह, प्रधान, हीरा, चित्रक, व्याल, महावीर,पशुराज, हिंसारू, नाहर।
संस्कृत शृ+ऊलञ्, दुक् आगम
अन्य ग्रंथ
संबंधित शब्द
संबंधित लेख

अन्य शब्दों के अर्थ के लिए देखें शब्द संदर्भ कोश

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=शार्दूल&oldid=112104" से लिया गया