सव्यसाची  

Disamb2.jpg सव्यसाची एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- सव्यसाची (बहुविकल्पी)


टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. निमित्तमात्रं भव सव्यसाचिन् -भागवत पुराण 11|33

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=सव्यसाची&oldid=515306" से लिया गया