गुरुद्वारा बेर साहिब, कपूरथला  

गुरुद्वारा बेर साहिब, कपूरथला
गुरुद्वारा बेर साहिब, कपूरथला
विवरण 'गुरुद्वारा बेर साहिब' एक प्रसिद्ध सिक्ख धार्मिक स्थल है। सिक्ख धर्म के अनुयायियों के लिए इस स्‍थान का महत्‍व बहुत अधिक है।
राज्य पंजाब
ज़िला कपूरथला
मान्यता माना जाता है गुरु नानक देव ने यहाँ अपने जीवन के 14 साल बिताए थे।
संबंधित लेख पंजाब, कपूरथला, सिक्ख धर्म
अन्य जानकारी गुरु नानक देव की जयंती के उपलक्ष्य में हर साल नवंबर में यहाँ एक मेले का आयोजन किया जाता है।

गुरुद्वारा बेर साहिब सिक्खों का एक पवित्र धार्मिक स्थल है, जो पंजाब के कपूरथला में सुल्तानपुर लोधी तहसील में अवस्थित है। सिक्ख धर्म के अनुयायियों के लिए इस स्‍थान का महत्‍व बहुत अधिक है। यही वह स्‍थान है, जहाँ सिक्‍खों के पहले गुरु, गुरु नानक देव ने अपने जीवन के चौदह वर्ष व्यतीत किए थे।

  • सिक्खों के लिए लोकप्रिय 'गुरुद्वारा बेर साहिब' कपूरथला की सुल्तानपुर लोधी तहसील में स्थित है।
  • ऐसा माना जाता है गुरु नानक देव ने यहाँ अपने जीवन के 14 साल बिताए थे। जब वे 'बेन' नामक छोटी-सी नदी में स्नान कर रहे थे, तब उन्होंने इस जगह पर ज्ञान भी प्राप्त किया था।
  • इस जगह का नाम सिक्ख गुरुद्वारा लगाए बेर के पेड़ के नाम पर रखा गया है।
  • यह भी कहा जाता है कि उक्त बेर का पेड़ स्वयं गुरु नानक देव ने लगाया था।
  • गुरुद्वारे की वर्तमान संरचना एक ऊंची चौंकी पर विभिन्न अष्टकोणीय कॉलम और एक अलंकृत गैलरी के साथ महाराजा जगतजीत सिंह द्वारा बनवायी गई थी। फूलों की विविध डिजाइनों से इस संरचना की दीवारें और छत सजी हैं।
  • गुरु नानक देव की जयंती के उपलक्ष्य में हर साल नवंबर में यहाँ एक मेले का आयोजन किया जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गुरुद्वारा_बेर_साहिब,_कपूरथला&oldid=463326" से लिया गया