भारतकोश ज्ञान का हिन्दी महासागर  

आज का दिन - 24 मई 2017 (भारतीय समयानुसार)
Calendar icon.jpg भारतकोश कॅलण्डर Calendar icon.jpg
Calender-Icon.jpg

यदि दिनांक सूचना सही नहीं दिख रही हो तो कॅश मेमोरी समाप्त करने के लिए यहाँ क्लिक करें

भारतकोश हलचल

भारतकोश हलचल

विश्व धूम्रपान निषेध दिवस (31 मई) हिंदी पत्रकारिता दिवस (30 मई) महाराणा प्रताप जयन्ती (28 मई) रमज़ान पाक रोज़े प्रारम्भ (27 मई) शनि जयंती (25 मई) अपरा एकादशी (22 मई) विश्व जैव विविधता दिवस (22 मई) दादू दयाल जयन्ती (19 मई) अंतरराष्ट्रीय संग्रहालय दिवस (18 मई) विश्व दूरसंचार दिवस (17 मई) सिक्किम स्थापना दिवस (16 मई) विश्व परिवार दिवस (15 मई) मातृ दिवस (14 मई) नारद जयन्ती (12 मई) अंतरराष्ट्रीय नर्स दिवस (12 मई) शब्बेरात (11 मई) राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस (11 मई) बुद्ध पूर्णिमा (10 मई) कूर्म जयंती (10 मई) नृसिंह जयंती (9 मई) विश्व रेडक्रॉस दिवस (8 मई) विश्व थैलेसिमिया दिवस (8 मई) विश्व हास्य दिवस (7 मई)


जन्म
वीर सावरकर (28 मई) डी. वी. पलुस्कर (28 मई) एन. टी. रामाराव (28 मई) पदुमलाल पुन्नालाल बख्शी (27 मई) नितिन गडकरी (27 मई) बिपिन चन्द्र (27 मई) रवि शास्त्री (27 मई) सरताज सिंह (26 मई) अरुणा रॉय (26 मई) सुशील कुमार पहलवान (26 मई) दाग़ देहलवी (25 मई) रास बिहारी बोस (25 मई) करतार सिंह सराभा (24 मई) रंजन मथाई (24 मई) बछेंद्री पाल (24 मई)
मृत्यु
गोपाल प्रसाद व्यास (28 मई) विजय सिंह पथिक (28 मई) महबूब ख़ान (28 मई) जवाहरलाल नेहरू (27 मई) सरदार हुकम सिंह (27 मई) कंदुकूरी वीरेशलिंगम (27 मई) हंगपन दादा (27 मई) रमाबाई आम्बेडकर (27 मई) श्रीकांत वर्मा (26 मई) लक्ष्मीकांत (25 मई) सुनील दत्त (25 मई) भगवत रावत (25 मई) मजरूह सुल्तानपुरी (24 मई) गुरु हनुमान (24 मई) प्रतापचंद्र मज़ूमदार (24 मई) के. एस. हेगड़े (24 मई)

Bhagwat-Rawat.jpg
Sunil-Dutt.jpg
Ras-bihari-bose.jpg
Daagh-Dehlvi.jpg
Guru-Hanuman.jpg
Majrooh Sultanpuri.gif
Bachendri-Pal.jpg
Kartar-Singh-Sarabha.jpg

भारतकोश सम्पादकीय

भारतकोश सम्पादकीय -आदित्य चौधरी
शहीद मुकुल द्विवेदी के नाम पत्र
Mukul-Dvawedi.jpg

        हमारे देश में किसी भी सेना या बल के जवान की जान की क़ीमत कितनी कम है इसका अंदाज़ा तुमको बख़ूबी होगा। हमारे जवान, सन् 62 की चीन की लड़ाई में बिना रसद और हथियारों के लड़ते रहे, कुछ वर्ष पहले मिग-21 जैसे कबाड़ा विमानों में एयरफ़ोर्स के पायलट बेमौत मरते रहे, पड़ोसी देश के दरिंदे हमारे सिपाहियों के सर काटकर ले जाते रहे, कश्मीर के साथ न्याय करने के बहाने भयानक अन्याय को सहते रहे, घटिया स्तर के नेताओं की जान बचाने के लिए अपनी जानें क़ुर्बान करते रहे, इन जवानों की शहादत इस बात का सबसे बड़ा प्रमाण था कि हमारी सरकारें देश के नौनिहालों को लेकर किस क़दर लापरवाह है। ...पूरा पढ़ें

पिछले सभी लेख शर्मदार की मौत एक महान डाकू की शोक सभा

एक आलेख

एक आलेख
रसखान के दोहे महावन, मथुरा

        रसखान की भाषा सोलहवीं शताब्दी में ब्रजभाषा के साहित्यिक आसन पर प्रतिष्ठित हो चुकी थी। भक्त-कवि सूरदास इसे सार्वदेशिक काव्य भाषा बना चुके थे किन्तु उनकी शक्ति भाषा सौष्ठव की अपेक्षा भाव द्योतन में अधिक रमी। इसीलिए बाबू जगन्नाथदास 'रत्नाकर' ब्रजभाषा का व्याकरण बनाते समय रसखान, बिहारी लाल और घनानन्द के काव्याध्ययन को सूरदास से अधिक महत्त्व देते हैं। रसखान को 'रस की ख़ान' कहा जाता है। इनके काव्य में भक्ति, श्रृंगार रस दोनों प्रधानता से मिलते हैं। रसखान कृष्ण भक्त हैं और प्रभु के सगुण और निर्गुण निराकार रूप के प्रति श्रद्धालु हैं। रसखान की भाषा की विशेषता उसकी स्वाभाविकता है। उन्होंने ब्रजभाषा के साथ खिलवाड़ न कर उसके मधुर, सहज एवं स्वाभाविक रूप को अपनाया। साथ ही बोलचाल के शब्दों को साहित्यिक शब्दावली के निकट लाने का सफल प्रयास किया। ... और पढ़ें

पिछले आलेख मौर्य काल होली

एक व्यक्तित्व

एक व्यक्तित्व
J.R.D-Tata.jpg

        जहाँगीर रतनजी दादाभाई टाटा आधुनिक भारत की बुनियाद रखने वाली औद्योगिक हस्तियों में सर्वोपरि थे। इन्होंने ही भारत की पहली वाणिज्यिक विमान सेवा 'टाटा एयरलाइंस' शुरू की थी, जो आगे चलकर भारत की राष्ट्रीय विमान सेवा 'एयर इंडिया' बन गई। इस कारण जे. आर. डी. टाटा को 'भारत के नागरिक उड्डयन का पिता' भी कहा जाता है। जे. आर. डी. टाटा, भारत के पहले लाइसेंस प्राप्त पायलट थे। जे. आर. डी. टाटा को फ़्राँस के सर्वोच्‍च नागरिकता पुरस्कार 'लीजन ऑफ द ऑनर' एवं भारत सरकार के सर्वोच्‍च अलंकरण 'भारत रत्न' से सम्‍मानित किया जा चुका है। इन्होंने 'टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ सोशल साइंसेज', 'टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ़ फ़ंडामेंटल रिसर्च' और 'नेशनल सेंटर फ़ॉर परफ़ार्मिंग आर्ट्स' की स्‍थापना की। ... और पढ़ें

पिछले लेख आर. के. लक्ष्मण अबुलकलाम आज़ाद

एक पर्यटन

एक पर्यटन स्थल
Rock-Garden-Chandigarh.jpg

        चंडीगढ़ आधुनिक शिल्‍पकला वैभव से संपन्‍न एक केंद्रशासित प्रदेश है। शिवालिक पहाडियों की नयनाभिराम तलहटी में बसा चंडीगढ़ वास्‍तविक अर्थों में एक ख़ूबसूरत शहर है। फ्रांसीसी वास्‍तुशिल्‍पी 'ला कार्बूजिए' द्वारा निर्मित यह शहर आधुनिक स्‍थापत्‍य कला तथा नगर नियोजन का शानदार उदाहरण है। इस शहर की ख़ासियत है स्वच्छता। चंडीगढ़ के लोग स्वयं अपने शहर की सफ़ाई के प्रति बहुत सतर्क रहते हैं। समुद्रतट से 365 मीटर की ऊंचाई पर स्थित 114 वर्ग किमी क्षेत्रफल में फैले सन् 1953 में निर्मित इस शहर में कभी जनसंख्या इतनी कम थी कि सिर्फ़ सुबह 9.30 बजे और शाम पांच बजे कार्यालयों की छुट्टी के समय ही लाल बत्ती पर लोग दिखते थे। यहाँ की जलवायु बहुत ही सुखद है। भीषण गर्मी में यहाँ सूती कपड़े और जींस आदि पहने हुए लोग देखे जा सकते हैं। सर्दियों के लिए गर्म मोजे, स्वेटर, जैकेट और शॉल पर्याप्त हैं। रॉक गार्डन, रोज़ गार्डन, सुखना झील आदि यहाँ के प्रमुख दर्शनीय स्थल हैं। ... और पढ़ें

पिछले पर्यटन स्थल लाल क़िला रणथम्भौर क़िला

एक रोग

एक रोग
Symptoms of diabetes.png

         मधुमेह अथवा डायबिटीज़ एक ख़तरनाक रोग है जिसका प्रभाव भारत में व्यापक रूप से फैल रहा है। यह बीमारी मानव शरीर में अग्न्याशय द्वारा इंसुलिन का स्त्राव कम हो जाने के कारण होती है। इसमें रक्त ग्लूकोज़ स्तर बढ़ जाता है, साथ ही इन मरीज़ों में रक्त कोलेस्ट्रॉल, वसा के अवयव भी असामान्य हो जाते हैं। धमनियों में बदलाव होते हैं। मधुमेह से पीड़ित मरीज़ों की आँखों, गुर्दों, स्नायु या लिगामेन्ट, मस्तिष्क, हृदय के क्षतिग्रस्त होने से इनके गंभीर, जटिल, घातक रोग का ख़तरा बढ़ जाता है। मधुमेह, ग्लूकोज़ (रक्त शर्करा) की चयापचय का एक विकार है। इंसुलिन नामक हॉर्मोन की कमी या इसकी कार्यक्षमता में कमी आने से 'मधुमेह रोग' या 'डायबिटीज़' हो जाती है। भारत को मधुमेह की राजधानी कहा जाता है। खानपान की ख़राबी और शारीरिक श्रम की कमी के कारण पिछले दशक में मधुमेह होने की दर दुनिया के हर देश में बढ़ी है। भारत में इसका सबसे विकृत स्वरूप उभरा है जो बहुत भयावह है। ...और पढ़ें

सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी

सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी
Quiz-icon-2.png

महत्त्वपूर्ण आकर्षण

महत्त्वपूर्ण आकर्षण

स्वतंत्र लेखन

भारतकोश पर स्वतंत्र लेखन


समाचार

समाचार
GSLV-F09.jpg
PV-Sindhu-China-Open-Series-winner.jpg
₹500 और ₹1000 के नोटों का विमुद्रीकरण
कबड्डी विश्व कप जीतने के बाद भारतीय टीम
भारतकोश संस्थापक श्री आदित्य चौधरी ‘भाषा दूत’ पुरस्कार से सम्मानित


कुछ लेख

कुछ लेख

असम   •   अरबिंदो घोष   •   अजंता की गुफ़ाएं   •   बेगम हज़रत महल   •   मीरां   •   कालिदास   •   चण्‍डीगढ़   •   सुमित्रानंदन पंत   •   गुरु नानक   •   अलंकार

भारतकोश ज्ञान का हिन्दी-महासागर
  • देखे गये पृष्ठ- 25,94,24,294
  • कुल पृष्ठ- 1,64,388
  • कुल लेख- 48,117
  • कुल चित्र- 15,287
  • 'भारत डिस्कवरी' विभिन्न भाषाओं में निष्पक्ष एवं संपूर्ण ज्ञानकोश उपलब्ध कराने का अलाभकारी शैक्षिक मिशन है।
  • कृपया यह भी ध्यान दें कि यह सरकारी वेबसाइट नहीं है और हमें कहीं से कोई आर्थिक सहायता प्राप्त नहीं है।
  • सदस्यों को सम्पादन सुविधा उपलब्ध है।
ब्रज डिस्कवरी
ब्रज डिस्कवरी पर जाएँ
ब्रज डिस्कवरी पर हम आपको एक ऐसी यात्रा का भागीदार बनाना चाहते हैं जिसका रिश्ता ब्रज के इतिहास, संस्कृति, समाज, पुरातत्व, कला, धर्म-संप्रदाय, पर्यटन स्थल, प्रतिभाओं, आदि से है।

चयनित चित्र

चयनित चित्र
कोणार्क सूर्य मंदिर में सूर्यदेव की प्रतिमा



वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः