अंजार  

अंजार एक छोटा नगर है, जो भारत के कच्छ में महाराष्ट्र राज्य के अंतर्गत अपने ही नाम के ताल्लुके का प्रधान कार्यालय है।

  • इसकी स्थिति 23° 10' उत्तरी अक्षांश और 74° 4' पूर्वी देशांतर है।
  • यह कच्छ की खाड़ी से 10 मील की दूरी पर पड़ता है।
  • इसके पास का निकटवर्ती क्षेत्र मरुस्थल और सूखा है।
  • पानी की समस्या को प्राय: कुओं के द्वारा पूरा किया जाता है।
  • पास के क्षेत्र में बाजरा, गेहूँ, जौ और कपास पैदा होते हैं।
  • यहाँ पर बाँधों और कुओं से सिंचाई का अच्छा प्रबंध है।
  • 16 जून, 1919 को यह नगर भयंकर भूकंप से बुरी तरह ध्वस्त हो गया था, जिससे धन जन की भी पर्याप्त हानि हुई थी।
  • यह नगर भारत के भूकंप के 'बी' ज़ोन में पड़ता है, यहाँ हल्के भूचाल कई बार आ चुके हैं।
  • अंजार पहले रेल द्वारा टूना, भुज तथा कांडला से मिला हुआ था।
  • अक्टूबर, 1952 में राष्ट्रपति डॉ. राजेंद्र प्रसाद ने कांडला दीसा मीटर गेज रेलवे लाइन का उद्घाटन किया।
  • इस प्रकार अब इस नगर का सीधा संबंध उत्तरी गुजरात तथा दक्षिणी पश्चिमी राजपूताना से हो गया है।
  • यह निकटवर्ती क्षेत्र का भौगोलिक केंद्र भी है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अंजार (हिंदी) भारतखोज। अभिगमन तिथि: 17 फ़रवरी, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=अंजार&oldid=609751" से लिया गया