आर. पी. आनंद  

आर पी आनंद

आर. पी. आनंद (अंग्रेज़ी: R. P. Anand, जन्म- 1933; मृत्यु- 2011) उन भारतीयों में से एक हैं, जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क़ानून को अथाह योगदान दिया है।[1]


  • अंतर्राष्ट्रीय क़ानून (टी डब्ल्यू ए आई एल) तक पहुंच के लिए तीसरी दुनिया के अग्रदूतों में से एक थे।
  • उनको इस विषय पर तीसरी दुनिया के दृष्टिकोण के एक प्रवक्ता के रूप में व्यापक पहचान और सम्मान दिया जाता है।
  • वे अंतर्राष्ट्रीय विधि अध्ययन केंद्र (सी आई एल एस), जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली में प्रोफेसर एमेरिटस थे।
  • उन्होंने समुद्र के क़ानून पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव के क़ानूनी सलाहकार के रूप में भी कार्य किया है।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. आर. पी. आनंद (हिंदी) www.mea.gov.in। अभिगमन तिथि: 04 अक्टूबर, 2016।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=आर._पी._आनंद&oldid=574062" से लिया गया