चंडप्रद्योत  

चंडप्रद्योत अवन्ती का राजा था, जो बुद्ध का समकालीन था। इसकी पुत्री वासवदत्ता से वत्सनरेश उदयन ने विवाह किया था, जिसका उल्लेख भास रचित 'स्वप्नवासवदत्ता' नामक नाटक में है।

  • वासवदत्ता को अवन्ती से संबंधित मानते हुए एक स्थान पर नाटक 'स्वप्नवासवदत्ता' में कहा गया है कि-
"हम्! अतिसदृशी खल्वियमार्याय अवंतिकाया:"[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अंक 6.
  2. परिशिष्टपर्वन् (पृ. 42
  3. कथासरित्सागर (टॉनी का अनुवाद जिल्द 2, पृ. 484

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=चंडप्रद्योत&oldid=555340" से लिया गया