जलाल ख़ाँ लोदी  

जलाल ख़ाँ लोदी दिल्ली के सुल्तान इब्राहीम लोदी (1517-1526 ई.) का भाई था। 1517 ई. में उसे जौनपुर का शासक बनाया गया था। परंतु सल्तनत का यह बंटवारा कई लोगों को स्वीकार नहीं था।

  • बंटवारे से अप्रसन्न जलाल ख़ाँ ने शीघ्र ही दिल्ली सल्तनत के ख़िलाफ़ बगावत का झंडा बुलन्द कर दिया।
  • सुल्तान इब्राहीम लोदी ने जब उसके विरुद्ध सेना भेजी, तब जलाल ख़ाँ ग्वालियर भाग गया।
  • ग्वालियर के राजपूत राजा विक्रमाजीत ने जलाल ख़ाँ को अपने यहाँ शरण दी।
  • जलाल ख़ाँ को विक्रमाजीत द्वारा शरण दिये जाने से इब्राहीम लोदी भड़क उठा और उसने ग्वालियर पर आक्रमण कर दिया।
  • एक युद्ध के पश्चात् राजा विक्रमाजीत आत्मसमर्पण करने के लिए विवश हो गया। युद्ध में जलाल ख़ाँ मारा गया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जलाल_ख़ाँ_लोदी&oldid=595292" से लिया गया