भारतकोश के संस्थापक/संपादक के फ़ेसबुक लाइव के लिए यहाँ क्लिक करें।

द्वारिका मठ  

द्वारिका मठ

द्वारिका मठ अथवा शारदा मठ अथवा कालिका पीठ (अंग्रेज़ी: Dwaraka Math) भारत में गुजरात के सुमुद्र तटीय नगर द्वारका में स्थित है, जिसकी स्थापना आदि शंकराचार्य ने 8वीं शताब्दी में की थी।

  • द्वारिका मठ को 'शारदा मठ' के नाम से भी जाना जाता है।
  • यह मठ गुजरात में द्वारका धाम में है।
  • इसके तहत दीक्षा लेने वाले संन्यासियों के नाम के बाद 'तीर्थ' और 'आश्रम' सम्प्रदाय नाम विशेषण लगाया जाता है, जिससे उन्हें उस संप्रदाय का संन्यासी माना जाता है।
  • इस मठ का महावाक्य है- 'तत्त्वमसि' और इसमें सामवेद को रखा गया है।
  • द्वारिका मठ के पहले मठाधीश हस्तामलक (पृथ्वीधर) थे।
  • हस्तामलक आदि शंकराचार्य के प्रमुख चार शिष्यों में से एक थे।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=द्वारिका_मठ&oldid=646239" से लिया गया