निष्कण्टक  

शब्द संदर्भ
हिन्दी जिसमें काँटे न हों, कंटकरहित, जिसमें कोई बाधा/आपत्ति/उपद्रव/संकट/ झंझट/ आदि न हो, निर्बाध, विपत्तिरहित, शत्रुओं से शून्य, शत्रुरहित, जिसमें कोई डर न हो, भयरहित, बिना किसी प्रकार के वैर या शत्रुता की संभावना के बेखटक।
-व्याकरण    विशेषण
-उदाहरण  

मगर, आज जो कुछ देखा, उससे धीरज हिलता है, मुझे कर्ण में चरम वीरता का लक्षण मिलता है।
बढ़ता गया अगर निष्कण्टक यह उद्भट भट बाल, अर्जुन ! तेरे लिए कभी वह हो सकता है काल॥

-विशेष   
-विलोम   
-पर्यायवाची    निश्शंक, नैष्ठिक, आशंकाहीन, अशंक
संस्कृत निस्+कण्टक
अन्य ग्रंथ
संबंधित शब्द निष्क
संबंधित लेख

अन्य शब्दों के अर्थ के लिए देखें शब्द संदर्भ कोश

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=निष्कण्टक&oldid=135337" से लिया गया