पर्यावरण सम्मेलन द्वितीय हैबिटाट  

पर्यावरण सम्मेलन द्वितीय हैबिटाट तुर्की के इस्ताम्बुल शहर में 3 जून, 1996 से शुरू होकर 14 जून, 1996 को समाप्त हुआ। यह सम्मेलन हैबिटाट एजेण्डा के नाम से भी जाना जाता है। इस एजेण्डे द्वारा 21वीं शताब्दी से पहले के दो दशकों में विश्व के सभी गाँवो, नगरों एवं शहरों के समुचित विकास के लिए सभी स्तरों पर कार्यवाही एवं मार्गदर्शन की अपेक्षा की गयी थी।

प्रमुख प्रावधान

हैविटाटा एजेण्डा के प्रमुख प्रावधानों में-

  1. साम्यपूर्ण मानव अधिवास
  2. अधिवास की स्थानिक विशिष्टता
  3. नागरिक अधिकार एवं उत्तरदायित्व
  4. समुचित विकास
  5. गरीबी उन्मूलन
  6. समाज की मूल इकाई के रूप में परिवार को मज़बूत करने की आवश्यकता
  7. सभी राज्यों एवं राज्यों के अन्दर कार्य करने वाले सभी लोगों की आवश्यकता
  8. सभी राज्यों एवं राज्यों के अन्दर कार्य करने वाले सभी लोगों के बीच भागेदारी
  9. वित्तीय स्रोत एवं मानव स्वास्थ्य की देखभाल
  10. विद्याविहीन एवं दलितों के साथ एकात्मकता
  11. प्राण की गुणवत्ता में सुधार आदि सिद्धान्तों एवं लक्षणों का उल्लेख किया गया है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पर्यावरण_सम्मेलन_द्वितीय_हैबिटाट&oldid=282337" से लिया गया