बिदेसिया लोकनाट्य  

बिदेशिया बिहार राज्य के लोकनाट्यों में से एक है। इस लोकनाट्य में भोजपुर क्षेत्र के अत्यन्त लोकप्रिय 'लौंडा नृत्य' के साथ ही आल्हा, पचड़ा, बारहमासा, पूरबी गोंड, नेटुआ, पंवड़िया आदि की पुट होती है।

  • लोकनाट्य का प्रारम्भ मंगलाचरण से होता है। इसमें महिला पात्रों की भूमिका भी पुरुष कलाकारों द्वारा की जाती है।
  • पात्र भूमिका भी निभाते हैं और पृष्ठभूमि में गायन-वादन आदि का भी कार्य करते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बिदेसिया_लोकनाट्य&oldid=545185" से लिया गया