लौंडा नृत्य  

लौंडा नृत्य बिहार के भोजपुर क्षेत्र का सर्वाधिक लोकप्रिय नृत्य है। इस नृत्य को 'लौंडा' अथार्त् लड़का ही करता है। अतः इसे बिहार की आम भाषा में 'लौंडा नृत्य' कहा जाता है। लौंडा नृत्य अधिकांशत: बारात आदि के मौकों पर किया जाता है।

  • इस नृत्य में सिर्फ़ लड़के ही भूमिका निभाते हैं।
  • पेशेवर लड़के लड़कियों का वेश धारण कर नृत्य करते हैं और लोगों का मनोरंजन करते हैं।
  • जब लड़का रंग-बिरंगे वस्त्र तथा लड़कियों का रूप धारण करता है, तो ग्रामीण दर्शक उसे सराहते नहीं थकते हैं।
  • विवाह तथा अन्य मांगलिक समारोहों में इसकी प्रस्तुति एक आवश्यकता समझी जाती है।
  • नर्तक नृत्य के साथ ही सस्ती भंगिमाओं द्वारा दशर्कों को कुछ 'देने' तथा छींटाकशी करने को बाद्य करता है।
  • बिहार राज्य के भोजपुर क्षेत्र में यह नृत्य अधिक प्रचलित है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=लौंडा_नृत्य&oldid=306918" से लिया गया