मल्लिकार्जुन  

  • देवराय द्वितीय के बाद उसका उसका पुत्र मल्लिकार्जुन (1446-1465 ई.) विजयनगर साम्राज्य का स्वामी बना।
  • मल्लिकार्जुन को ‘प्रौढ़ देवराय’ के नाम से भी जाना जाता था।
  • मल्लिकार्जुन अपने राज्य के सामंतों को अपने वश में रखने में असफल रहा था।
  • उसके समय में उड़ीसा एवं बहमनी के आक्रमण में उड़ीसा ने कोंडबिंदु एवं उदयगिरि के क़िले पर अधिकार कर लिया।
  • प्रौढ़ देवराय को उड़ीसा के गजपति शासकों ने बुरी तरह से पराजित किया था।
  • कुछ समय के बाद चन्द्रगिरि के नरसिंह सालुव ने उसका सिंहासन उससे छीन लिया।
  • नरसिंह सालुव, मल्लिकार्जुन का सामंत था।
  • हार के इस अपमान को न सह पाने के कारण 1465 ई. में उसकी मृत्यु हो गई।
  • चीनी यात्री माहुआन ने मल्लिकार्जुन के समय विजयनगर की यात्रा की थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मल्लिकार्जुन&oldid=279597" से लिया गया