विरुपाक्ष प्रथम  

विरुपाक्ष प्रथम (1404 ई.) विजयनगर साम्राज्य के हरिहर द्वितीय का पुत्र था।

  • 1404 ई. में पिता की मृत्यु के बाद विरुपाक्ष प्रथम ने सिंहासन पर अधिकार कर लिया।
  • राजगद्दी पर अधिकार करने के बाद शीघ्र ही विरुपाक्ष प्रथम अपने ही भाई बुक्का द्वितीय के द्वारा अपदस्थ कर दिया गया। इस प्रकार उसका शासन बहुत ही अल्प कालीन रहा।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=विरुपाक्ष_प्रथम&oldid=528216" से लिया गया