मशोबरा  

मशोबरा
मशोबरा
विवरण 'मशोबरा' हिमाचल प्रदेश का पहाड़ी स्थान है, जो अपनी शानदार पहाड़ियों और और ख़ूबसूरत प्राकृतिक दृश्यों के लिए जाना जाता है।
राज्य हिमाचल प्रदेश
ज़िला शिमला
स्थापना 18वीं सदी
स्थापक लॉर्ड डलहौज़ी
भौगोलिक स्थिति समुद्र स्तर से 2500 मीटर की ऊंचाई पर सिंधु नदी और गंगा नदी के तट पर स्थित है
कब जायें अप्रैल से जून
विशेष मशोबरा सर्दियों में कम तापमान के लिये प्रसिद्ध है, क्योंकि इस समय तापमान -10 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है।
अन्य जानकारी नलडेहरा, वाइल्ड फ्लावर हॉल और कैरिगनानो मशोबरा के अन्य प्रमुख आकर्षण हैं, जहाँ हर रोज कई पर्यटक आते हैं।

मशोबरा हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में स्थित एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यह स्थान अपनी ख़ूबसूरती और मनोरम दृश्यों के लिए जाना जाता है। मशोबरा में कई आकर्षक पर्यटन स्थल हैं, जो दूर से ही पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। यह शहर सर्दियों के दिनों में बहुत कम तापमान के लिए प्रसिद्ध है। इसीलिए यहाँ आने वाले पर्यटकों को पूरी तरह से तैयार होने के बाद ही यहाँ आना चाहिए।

स्थिति

हिमाचल प्रदेश का यह शानदार शहर पहाड़ियों में एक सुंदर शहर के रूप में अपने सम्मोहित करने वाले दृश्यों और ठंडी जलवायु के लिए आगंतुकों के बीच अच्छी तरह से जाना जाता है। समुद्र स्तर से 2500 मीटर की ऊंचाई पर स्थित, मशोबरा सिंधु नदी और गंगा नदी के तट पर स्थित है और एशिया के सबसे बड़े वाटरशेड के रूप में माना जाता है।[1]

विशेषता

लेडी माउंटबेटन और लेडी एडविना की जीवनी के अनुसार, मशोबरा को लॉर्ड डलहौज़ी ने 18वीं सदी में स्थापित किया था। यह जगह भारत में केवल दो राष्ट्रपति वासों में से एक के लिए घर है। मशोबरा की एक विशेषता यहाँ के फल हैं और यह शिमला शहर के फल और सब्जियों के मुख्य आपूर्तिकर्ताओं में से एक के रूप में कार्य करता है। यह स्‍थान शिमला और 'रिजर्व वन अभयारण्य' और 'महासू देवता मंदिर' जैसे कई पर्यटकों के आकर्षण के आस-पास के क्षेत्र में स्थित होने के लिए जाना जाता है। 'महासू' भगवान शिव का स्थानीय नाम है। इन्हीं को समर्पित एक मंदिर भी यहाँ मौजूद है, जो हर साल कई तीर्थयात्रियों को आकर्षित करता है।

पर्यटन स्थल

मशोबरा यात्रा की योजना बना रहे यात्रियों को 'रिजर्व वन अभयारण्य', जो इस क्षेत्र में पाये जाने वाली दुर्लभ वनस्पतियों और पशु वर्ग को देखने का एक अवसर प्रदान करता है, की ओर अवश्य जाना चाहिए। ट्रैकिंग, शिविर लगाना और पिकनिक मनाने जैसी गतिविधियाँ यहाँ की जा सकती हैं, जिनका आगंतुक आनंद ले सकते हैं। इनके अलावा मशोबरा के आस-पास के क्षेत्र में एक और प्रमुख पर्यटक केन्द्र है, जो 10 कि.मी. की दूरी पर स्थित है। लोकप्रिय रूप से 'पहाड़ियों की रानी' के रूप में जानी जाने वाली यह जगह 'हिमाचल राज्य संग्रहालय' और पुस्तकालय की यात्रा करने का अवसर भी यात्रियों को उपलब्ध कराता है।[1]

प्रमुख आकर्षण

नलडेहरा, वाइल्ड फ्लावर हॉल और कैरिगनानो मशोबरा के अन्य प्रमुख आकर्षण हैं, जहाँ हर रोज कई पर्यटक आते हैं। इनके अलावा, महासू मेला इस जगह का एक लोकप्रिय त्योहार है। 'महासू जटारा ' के रूप में जाना जाने वाला यह त्योहार गांव के मुख्य देवता, भगवान महासू के सम्मान में मनाया जाता है। यह एक दो दिवसीय त्योहार हैं, जो प्रत्येक वर्ष मई महीने के तीसरे मंगलवार को दुर्गा देवी मंदिर के सामने मनाया जाता है।

परिवहन

मशोबरा परिवहन के प्रमुख साधनों अर्थात् हवा, सड़क, और रेल मार्ग के माध्यम से देश से जुड़ा हुआ है।

कब जायें

पर्यटक गर्मियों के दौरान, जो अप्रैल से शुरू होकर जून तक रहता है, जब जलवायु सुखद और आरामदायक रहती है, इस गंतव्य की यात्रा कर सकते हैं। यह शहर सर्दियों में कम तापमान के लिये प्रसिद्ध है, क्योंकि इस समय तापमान -10 डिग्री सेल्सियस तक गिर जाता है। इसलिये पर्यटकों को, जो अत्यधिक ठंड के मौसम में सहज नहीं हैं, इस मौसम में मशोबरा से दूर रहने की सलाह दी जाती है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 मशोबरा, पहाड़ों में प्रेसिडेंशियल रिट्रीट (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 17 जून, 2013।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मशोबरा&oldid=344327" से लिया गया