मौदग्ल्यान  

मौदग्ल्यान राजगृह का निवासी था तथा सारिपुत्र के साथ ही बौद्ध धर्म में दीक्षित हुआ था। यह उच्च कोटि का विद्वान् और चिंतक था। इसकी मृत्यु बुद्ध के जीवनकाल में ही हो गयी थी। [1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. दीक्षा की भारतीय परम्पराएँ (हिंदी), 87।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मौदग्ल्यान&oldid=600776" से लिया गया