रंगाई-छपाई कला, राजस्थान  

रंगाई-छपाई कला राजस्थान की प्रसिद्ध हस्तकलाओं में से एक है।

अजरक प्रिंट
  • बाड़मेर का अजरक प्रिंट प्रसिद्ध है।
  • इस प्रिंट में लाल और नीले रंग का प्रयोग किया जाता है।
  • खत्री जाति इस कार्य को करने के लिए प्रसिद्ध है।
मलीर प्रिंट
  • मलीर प्रिंट बाड़मेर का प्रसिद्ध है।
  • कत्थई रंग का प्रयोग किया जाता है।
जाजम / आजम प्रिंट
  • इस प्रिंट के लिए छिंपो का अकौला (चित्तौड़गढ) प्रसिद्ध है।
दाबू प्रिंट
  • मोम का दाबू सवाई माधोपुर का प्रसिद्ध है।
  • गेहूं का दाबू (सांगानेर व बगरू) जयपुर का प्रसिद्ध है।
  • मिट्टी का दाबू बालोतरा (बाड़मेर) का प्रसिद्ध है।
सांगानेरी प्रिंट
  • यह प्रिंट सांगानेर (जयपुर) का प्रसिद्ध है।
  • सांगानेरी प्रिंट बेल-बूटों की छपाई के लिए प्रसिद्ध है।
  • इस छपाई में प्रसिद्ध बेल दाखा बेल है।
बगरू प्रिंट
-
  • यह प्रिंट बगरू (जयपुर) का प्रसिद्ध है।
  • इस प्रिंट में काले रंग की प्रधानता हैं।
मैण छपाई
  • मैण छपाई सवाई माधोपुर की प्रसिद्ध है।
टुकड़ी प्रिंट
  • टुकडी प्रिंट जालौर की प्रसिद्ध है।
तबक की छपाई


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=रंगाई-छपाई_कला,_राजस्थान&oldid=521399" से लिया गया