स्थानेश्वर महादेव मन्दिर  

स्थानेश्वर महादेव मन्दिर हरियाणा राज्य के कुरुक्षेत्र ज़िले में थानेश्वर नामक स्थान पर स्थित है। कुरुक्षेत्र के प्रसिद्ध मन्दिरों में इस मन्दिर का नाम भी बड़े ही आदर के साथ लिया जाता है। स्थानेश्वर महादेव मन्दिर के नाम पर ही इस जगह का नाम 'थानेश्वर' अथवा 'स्थानेश्वर' पड़ा। 'शिवरात्रि' के अवसर पर यहाँ विशाल मेले का आयोजन होता है। भगवान शिव को यह मन्दिर रात के समय विद्युत की आकर्षक सजावट से जगमगाता रहता है। 'शिवरात्रि' के के दिन इस मन्दिर की सुन्दरता देखने लायक़ होती है।[1]

  • हरियाणा के कुरुक्षेत्र स्थित थानेश्वर में 'स्थानेश्वर महादेव मन्दिर' की बड़ी महत्ता है। इस प्राचीन मन्दिर के लिए कहा जाता है कि स्वयं भगवान शिव यहाँ वास करते हैं और 'महाशिवरात्रि' की रात को तांडव करते हैं।
  • यही वह मन्दिर है, जहाँ पांडवों ने भगवान शिव की आराधना कर महाभारत के युद्ध में कौरवों पर विजय की कामना की थी। भगवान शिव ने उन्हें दर्शन देकर मनोकामना सिद्ध होने का वरदान भी दिया था।
  • थानेश्वर के बारे में प्रसिद्ध है कि यह पुष्यभूति वंश के दौरान राजा हर्षवर्धन की सल्तनत का हिस्सा था।
  • स्थानेश्वर महादेव मन्दिर में भगवान शिव की आराधना शिवलिंग के रूप में होती है।
  • कुरुक्षेत्र की यात्रा पर आने वाले भक्तों की यात्रा भी तभी पूरी मानी जाती है, जब वे इस मन्दिर में पूजा कर लें। ऐसा नहीं करने पर पूजा को अधूरा ही माना जाता है और उसका फल भी नहीं मिलता।
  • यमुना नदी के किनारे बसे इस शिव मन्दिर के लिए कहा जाता है कि मन्दिर के पीछे यमुना का पानी मन्दिर के टैंक से होता हुआ मन्दिर के बाहर निकलता है। इसकी एक बूँद से कुष्ठ रोग का निवारण हो जाता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कुरुक्षेत्र के प्रमुख तीर्थ (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 20 अगस्त, 2013।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=स्थानेश्वर_महादेव_मन्दिर&oldid=370881" से लिया गया