एमैनुएल पिनहेरो  

एमैनुएल पिनहेरो एक जेसुइट पादरी था, जो 1595 ई. में पादरी जरोय जैवियर के साथ बादशाह अकबर के दरबार में आया था।

  • मुग़ल शासक अकबर के शासन काल के अंतिम वर्षों में एमैनुएल पिनहेरो मुग़ल दरबार में ही रहा।
  • अकबर ने एमैनुएल पिनहेरो को 'बाप्तिस्ता' देकर अपनी प्रजा को ईसाई बनाने की आज्ञा दे दी थी।
  • मुग़ल दरबार में रहते हुए पिनहेरो ने अपने देश को जो पत्र लिखे, उससे मुग़ल काल के इतिहास के सम्बंध में महत्त्वपूर्ण जानकारी मिलती है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=एमैनुएल_पिनहेरो&oldid=517570" से लिया गया