विक्टर जैकोमाण्ट  

विक्टर जैकोमाण्ट

विक्टर जैकोमाण्ट (अंग्रेज़ी: Victor Jacquemont, जन्म: 1801; मृत्यु: 1832) एक फ्रेंच वनस्पतिशास्त्री था, जो लगभग 1830 ई. में पंजाब में रणजीत सिंह के दरबार में आया था।

  • उसने 'भारत से पत्र' नामक एक पुस्तक में 'शेर-ए-पंजाब' कहे जाने वाले महाराजा रणजीत सिंह के सम्बंध में अपने विचार लिखे हैं।
  • विक्टर जैकोमाण्ट पंजाब के महाराजा रणजीत सिंह की जिज्ञासु वृत्ति से बहुत प्रभावित हुआ था और उन्हें एक असाधारण व्यक्ति मानता था।
  • जैकोमाण्ट के लिखे ग्रंथों में हिमालय क्षेत्र के पेड़-पौधों तथा उस काल के भारत की सामाजिक अवस्था के बारे में महत्त्वपूर्ण जानकारी मिलती है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पुस्तक- भारतीय इतिहास कोश |लेखक- सच्चिदानन्द भट्टाचार्य | पृष्ट संख्या- 167 | प्रकाशन- उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान लखनऊ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=विक्टर_जैकोमाण्ट&oldid=587838" से लिया गया