कोई लाख करे चतुराई  

कोई लाख करे चतुराई
कवि प्रदीप
विवरण कोई लाख करे चतुराई एक प्रसिद्ध फ़िल्मी गीत है।
रचनाकार कवि प्रदीप
फ़िल्म चंडी पूजा (1957)
संगीतकार अजीत मर्चेंट
गायक/गायिका कवि प्रदीप
अन्य जानकारी कवि प्रदीप का मूल नाम 'रामचंद्र नारायणजी द्विवेदी' था। प्रदीप हिंदी साहित्य जगत् और हिंदी फ़िल्म जगत् के एक अति सुदृढ़ रचनाकार रहे। कवि प्रदीप 'ऐ मेरे वतन के लोगों' सरीखे देशभक्ति गीतों के लिए जाने जाते हैं।

कोई लाख करे चतुराई करम का लेख मिटे ना रे भाई
करम का लेख मिटे ना रे भाई
ज़रा समझो इसकी सचाई रे करम का लेख मिटे ना रे भाई

इस दुनिया में भाग्य के आगे चले ना किसी का उपाय
काग़ज़ हो तो सब कोई बांचे करम ना बांचा जाय
एक दिन इसी किस्मत के कारन बन को गए थे रघु राइ रे
करम का लेख मिटे ना रे भाई

कहे मनवा धीरज खोता कहे तू नाहक रोये
अपना सोचा कभी नहीं होता भाग्य करे तो होय
चाहे हो राजा चाहे भिखारी ठोकर सभी ने यहाँ खाई रे
करम का लेख मिटे ना रे भाई
कोई लाख करे चतुराई करम का लेख मिटे ना रे भाई
करम का लेख मिटे ना रे भाई


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=कोई_लाख_करे_चतुराई&oldid=597391" से लिया गया