दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले  

दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले
कवि प्रदीप
विवरण दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले एक प्रसिद्ध फ़िल्मी गीत है।
रचनाकार कवि प्रदीप
फ़िल्म दशहरा (1956)
संगीतकार एन. दत्ता
गायक/गायिका कवि प्रदीप
अन्य जानकारी कवि प्रदीप का मूल नाम 'रामचंद्र नारायणजी द्विवेदी' था। प्रदीप हिंदी साहित्य जगत् और हिंदी फ़िल्म जगत् के एक अति सुदृढ़ रचनाकार रहे। कवि प्रदीप 'ऐ मेरे वतन के लोगों' सरीखे देशभक्ति गीतों के लिए जाने जाते हैं।

दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले
तेरे दुःख दूर करेंगे राम
दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले
तेरे दुःख दूर करेंगे राम

किये जा तू जग में भलाई का काम
तेरे दुःख दूर करेंगे राम

सत का है पथ ये धरम का मार्ग
संभल संभल कर चलना प्राणी
पग पग पर यहाँ रे कसौटी
कदम कदम पर क़ुरबानी
मगर तू डामाडोल ना होना
तेरी सब पीर हरेंगे राम
दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले
तेरे दुःख दूर करेंगे राम
किये जा तू जग में भलाई का काम
तेरे दुःख दूर करेंगे राम

क्या तूने पाया क्या तूने खोया
क्या तेरा लाभ है क्या हानी
इकसा हिसाब करेगा वो इश्वर
तू क्यों फिकर करे रे प्राणी
तू बस अपना काम किये जा
तेरा भंडार भरेंगे राम
दूसरों का दुखड़ा दूर करने वाले
तेरे दुःख दूर करेंगे राम
किये जा तू जग में भलाई का काम
तेरे दुःख दूर करेंगे राम

पोछ ले तू अपने आंसू तमाम
तेरे दुःख दूर करेंगे राम
तेरे दुःख दूर करेंगे राम
किये जा तू जग में भलाई का काम
तेरे दुःख दूर करेंगे राम


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=दूसरों_का_दुखड़ा_दूर_करने_वाले&oldid=597421" से लिया गया