गोड्डा  

गोड्डा झारखण्ड राज्य का ज़िला है। पहले यह बिहार का हिस्सा हुआ करता था। यह ज़िला खनिज सम्पदा से समृद्ध है। यहाँ एशिया का प्रसिद्ध खुला कोयला खदान 'ललमटिया' है, जिसके कोयले से दो ताप बिजली घर 'कहलगाँव' व 'फरक्का' संचालित होते हैं।

  • भौगोलिक दृष्टि से गोड्डा को दो भागों में विभाजित किया जा सकता है-
  1. दक्षिण तथा पश्चिम का पहाड़ी क्षेत्र, जिसका अधिकांश भाग चट्टानों तथा वनों से आच्छादित है।
  2. पूर्वी क्षेत्र, जो केवल मिट्टी से बना हुआ उपजाऊ मैदानी भाग है तथा जिसमें अधिकांशत: कृषि होती है। अधिकांश जनसंख्या इसी मैदानी क्षेत्र में निवास करती है।
  • गोड्डा की संपूर्ण जनसंख्या ग्रामीण है। इस ज़िले में प्रशासनिक दृष्टि से गोड्डा, परैयाहाट तथा महागाँवा थाने सम्मिलित हैं।
  • यातायात की सुविधाओं तथा औद्योगिक एवं व्यापारिक साधनों के अभाव के कारण यह ग्राम मात्र ही रह गया है।
  • वर्ष 2001 की जनगणना के अनुसार यहाँ की जनसंख्या लगभग 37,007 थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=गोड्डा&oldid=492430" से लिया गया