Makhanchor.jpg भारतकोश की ओर से आप सभी को कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ Makhanchor.jpg

पारसनाथ पहाड़ी  

पारसनाथ पहाड़ी, झारखंड

पारसनाथ पहाड़ी झारखंड राज्य के बोकारो शहर में स्थित है। बोकारो में कई पर्यटन स्थल हैं, जिनमें से पारसनाथ पहाड़ी भी एक है। झारखंड राज्य की यह सबसे ऊँची पहाड़ी है। गिरिडीह स्थित इस पहाड़ी की ऊँचाई लगभग 4,440 फीट है। ये पूरी पहाड़ी जंगल से घिरी हुई है।

  • पारसनाथ पहाड़ी की प्राकृतिक छटा बहुत ही अद्भुत है।
  • इस पहाड़ पर जैन धर्म का सबसे प्रमुख धार्मिक स्थल है।
  • दामोदर नदी और गरगा नदी के दक्षिणी किनारे पर स्थित बोकारो प्राकृतिक रूप से बहुत ख़ूबसूरत है।
  • प्रकृति ने इसे अपनी अनमोल देन नदियों और पहाड़ियों से सजाया है।
  • पहाड़ के शिखर पर जैन धर्म के 20 तीर्थंकारों के चरण चिह्न अंकित हैं।
  • इस पहाड़ी को सम्मेद शिखर कहा जाता है।
  • तीर्थंकरों के चरण चिह्नों को 'टोंक' कहा जाता है।
  • कहा जाता है कि यहाँ जैनियों के 20वें से 24वें तीर्थंकरों ने निर्वाण प्राप्त किया था।
  • यहाँ जैनियों के श्वेताम्बर और दिगम्बर दोनों ही पन्थों के मन्दिर बने हुए हैं।
  • यह स्थान मधुबन के नाम से भी विख्यात है।
  • इसका निर्माण आर्कियन युग की चट्टानों से हुआ है।
  • पारसनाथ के पठार में विभिन्न प्रकार खनिज पदार्थ पाए जाते हैं।
  • यहाँ पाए जाने वाले खनिजों में लोहा, मैंगनीज़ तथा डोलोमाइट प्रमुख है।

इन्हें भी देखें: सम्मेद शिखर एवं तीर्थंकर


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पारसनाथ_पहाड़ी&oldid=522014" से लिया गया