जहान ख़ाँ  

जहान ख़ाँ एक योग्य अफ़गान सेनापति था। अहमदशाह अब्दाली ने 1757 ई. में अपने लड़के तैमूरशाह को अपना प्रतिनिधि बनाकर लाहौर में रख दिया और जहान ख़ाँ को उसका वजीर बना दिया। जहान खाँ पंजाब में शांति बनाये नहीं रख सका और मराठों ने तैमूर शाह को अपदस्थ करके 1758 ई. में पंजाब पर अधिकार कर लिया।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  • पुस्तक- भारतीय इतिहास कोश |लेखक- सच्चिदानन्द भट्टाचार्य | पृष्ट संख्या- 166 | प्रकाशन- उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान लखनऊ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=जहान_ख़ाँ&oldid=517390" से लिया गया