ताजिक जाति  

Disamb2.jpg ताजिक एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- ताजिक (बहुविकल्पी)

ताजिक जाति मध्य एशिया में पाई जाती है। इस जाति के लोग विशेष रूप से तजाकिस्तान, उज़बेकिस्तान, अफ़ग़ानिस्तान और चीन में बसते हैं। पामीर के पठार पर रहने वाले ताजिक लोगों को 'पामीर के बहादुर बाज' कहा जाता है। ताजिक जाति के लोगों का भाषा और संस्कृति के आधार पर ईरान के लोगों से निकट का सम्बन्ध रहा है। ताजिकी लोग पूर्वी ईरानी भाषाएँ बोलने वाले प्राचीन सोग़दाई, बैक्ट्रियाई और पार्थियाई लोगों के वंशज हैं।

  • बड़ी संख्या में अफ़ग़ानिस्तान से आये ताजिक शरणार्थी ईरान और पाकिस्तान में भी रहते हैं।
  • अपनी संस्कृति और भाषा के मामले में ताजिक लोगों का ईरान के लोगों से गहरा सम्बन्ध रहा है।
  • चीन के ताजिक लोग अन्य ताजिक लोगों से ज़रा भिन्न होते हैं, क्योंकि वे पूर्वी ईरानी भाषाएँ बोलते हैं, जबकि अन्य ताजिक फ़ारसी भाषा का प्रयोग करते हैं।
  • पामीर पठार पर बसे ताजिक जाति के लोग अपने को ताजिक कहते हैं। ताजिक भाषा में 'ताजिक' का अर्थ होता है- 'ताज' यानी 'मुकुट'।
  • चीन के सिन्चांग उइगूर स्वायत्त प्रदेश के दक्षिण पश्चिमी भाग में अनंत अपार फैले पामीर पठार पर ताजिक, उइगुर, किरगीज़ और ह्वी आदि चीन की अल्पसंख्यक जातियों के लोग हैं, लेकिन वहाँ की कुल आबादी में 90 प्रतिशत लोग ताजिक जाति के हैं।
  • ताजिक लोग अधिकांश सिन्चांग के ताशकुरकन प्रिफेक्चर की ताजिक स्वायत्त काऊंटी में रहते हैं।
  • अतीत में ताजिक लोग मुख्यतः मवेशी चराने का काम करते थे और इसके साथ खेतीबाड़ी भी करते थे। वे अर्ध पशुपालन और अर्ध कृषि उत्पादन का जीवन बिताते थे।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=ताजिक_जाति&oldid=499786" से लिया गया