देवयज्ञ  

देवयज्ञ का अर्थ देवताओं का पूजन, उनका होम और हवन है। देवताओं को प्रसन्न रखने का यह एक महत्त्वपूर्ण अंग है।

  • घर में नित्य देवी-देवताओं का नियमित पूजन, यज्ञ व हवन होने से देवता प्रसन्न होते हैं।
  • इसके साथ ही हवन से घर का वातावरण भी शुद्ध हो जाता है, जिससे मानव शरीर भी स्वस्थ्य रहता है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=देवयज्ञ&oldid=247115" से लिया गया