नबद्वीप  

नबद्वीप भूतपूर्व नदिया शहर पूर्वोत्तर भारत के दक्षिण-पूर्वी पश्चिम बंगाल राज्य की भागीरथी और जालांगी नदियों के संगम स्थल पर स्थित है।

  • भागीरथी नदी द्वारा दिशा परिवर्तन के कारण यह ज़िले के अन्य हिस्सों से अलग हो गया है।
  • कहा जाता है कि नबद्वीप की स्थापना 1063 में हुई और यह सेन राजवंश की पुरानी राजधानी था।
  • अपनी पावनता के लिये विख्यात यह स्थान एक महत्त्वपूर्ण तीर्थस्थल है और इसे बंगाल का वाराणसी कहा जाता है।
  • वैष्णव मत की स्थापना करने वाले हिंदू अध्यात्मवादी चैतन्य (1486-1533) का जन्म इसी स्थान पर हुआ था।
  • नबद्वीप अपने पारंपरिक संस्कृत विद्यालयों के लिए भी विख्यात है।
  • धातु का सामान और पीपल-निर्माण नबद्वीप के मुख्य उद्योग हैं।
  • नबद्वीप 1869 में नगरपालिका का गठन हुआ था और इस शहर में कई महाविद्यालय हैं, जो कल्याणी विश्वविद्यालय से संबध्द हैं।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=नबद्वीप&oldid=499321" से लिया गया