सिलीगुड़ी  

सिलीगुड़ी, पश्चिम बंगाल

सिलीगुड़ी शहर, उत्तरी पश्चिम बंगाल राज्य के, पूर्वोत्तर भारत में है। 1931 में इसे नगरपालिका के रूप में गठित किया गया, लेकिन अब इसे नगर निगम का दर्जा दे दिया गया है। दो नदियाँ बालासन और महानन्दा यहाँ से होकर बहती हैं। उत्तरी बंगाल राज्य कलिंपोंग और सिक्किम से आने वाली सड़कों का यह अंतिम केंद्र हैं। 1947 में बांग्लादेश के गठन के बाद यह शहर भीड़भाड़ वाला शरणार्थी केंद्र बन गया। अंतर्राष्ट्रीय सीमाओं से निकटता के कारण इसका सामरिक महत्त्व बढ़ा है।

उद्योग और व्यापार

सिलीगुड़ी, दार्जिलिंग और सिक्किम के बीच व्यापार का प्रमुख केंद्र है। सिलीगुड़ी शहर में आरा और पटसन के महत्त्वपूर्ण उद्योग हैं।

कृषि और खनिज

सिलीगुड़ी शहर के आसपास चाय की खेती भी होती है।

सिलीगुड़ी से महानदी की ओर उतरती ट्रेन

यातायात और परिवहन

सिलीगुड़ी शहर निकट स्थित उत्तरी बंगाल के सबसे महत्त्वपूर्ण हवाई अड्डे बागडोगरा से जुड़ा है। सिलीगुड़ी शहर कोलकाता से 584 किलोमीटर की दूरी पर है, सिलीगुड़ी शहर पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे और उत्तरी बंगाल राज्य परिवहन निगम कार्यरत हैं। दार्जिलिंग और जलपाईगुड़ी से यह सड़क और रेलमार्ग द्वारा जुड़ा है।

शिक्षण संस्थान

सिलीगुड़ी के राजा राममनोहरपुर में उत्तरी बंगाल विश्वविद्यालय है। इस विश्वविद्याल से कई महाविद्यालय संबद्ध हैं।

जनसंख्या

सिलीगुड़ी शहर की जनसंख्या 2001 की जनगणना के अनुसार 4,70,273 है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ


बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=सिलीगुड़ी&oldid=250056" से लिया गया