पासी  

पासी गाँवों में भुस (गाय-भैंसों का चारा) को सर पर ले जाने के लिए बुनी एक जालीदार गठरी को कहते हैं जिसमें लॉन टेनिस के नेट जैसी बुनाई होती है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारतकोश संस्थापक श्री आदित्य चौधरी जी की फ़ेसबुक वॉल से उद्धृत

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=पासी&oldid=511719" से लिया गया