बांसवाड़ा  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
श्री त्रिपुरा सुंदरी मंदिर, बांसवाड़ा

बांसवाड़ा नगर, दक्षिणी राजस्थान राज्य में स्थित है। बांसवाड़ा एक कृषि मंडी है। कपास की ओटाई, आटे की मिलें, हथकरघा और लकड़ी के काम से जुड़े कारखाने बांसवाड़ा के प्रमुख उद्योग हैं। इस्स क़िलेबंद नगर की स्थापना 16वीं सदी के आरंभ में की गई थी। बांसवाड़ा राजस्थान विश्वविद्यालय से संबद्ध एक सरकारी महाविद्यालय है।

बांसवाड़ा के आसपास का क्षेत्र अन्य क्षेत्रों की तुलना में समतल और उपजाऊ है, माही बांसवाड़ा की प्रमुख नदी है। मक्का, गेहूँ और चना बांसवाड़ा की प्रमुख फ़सलें हैं। बांसवाड़ा में लौह अयस्क, सीसा, जस्ता, चांदी और मैंगनीज पाया जाता है।

इस क्षेत्र का गठन 1530 में बांसवाड़ा रजवाड़े के रूप में किया गया था और बांसवाड़ा शहर इसकी राजधानी था। 1948 में राजस्थान राज्य में विलय होने से पहले यह मूल डूंगरपुर राज्य का एक भाग था।  

पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=बांसवाड़ा&oldid=490822" से लिया गया