Makhanchor.jpg भारतकोश की ओर से आप सभी को कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ Makhanchor.jpg

मघा नक्षत्र  

मघा नक्षत्र का नक्षत्र मंडल में दसवाँ स्थान है। मघा नक्षत्र के चारों चरण सिंह राशि में आते हैं।

अर्थ - महान
देव - पितृ

  • इस नक्षत्र का स्वामी केतु है।
  • राशि स्वामी सूर्य है।
  • मघा नक्षत्र सूर्य की सिंह राशि में आता है।
  • नक्षत्र स्वामी केतु है, इसकी महादशा 7 वर्ष की होती है।
  • केतु को राहु का धड़ माना गया है।
  • वैज्ञानिक दृष्टि से देखा जाए तो केतु पृथ्वी का दक्षिण छोर है।
  • मघा में पितरों का व्रत और पूजन किया जाता है।
  • बरगद के पेड को मघा नक्षत्र का प्रतीक माना जाता है।
  • मघा नक्षत्र में जन्म लेने वाले व्यक्ति बरगद की पूजा करते है।
  • इस नक्षत्र में जन्म लेने वाले व्यक्ति अपने घर में बरगद के पेड को लगाते है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=मघा_नक्षत्र&oldid=286055" से लिया गया