}

राष्ट्रीय फ़िल्म विकास निगम  

Icon-edit.gif इस लेख का पुनरीक्षण एवं सम्पादन होना आवश्यक है। आप इसमें सहायता कर सकते हैं। "सुझाव"
  • भारत में श्रेष्ठ, उद्देश्यपरक एवं साफ-सुथरी फ़िल्मों को प्रोत्साहन देने के लिए 'राष्ट्रीय फ़िल्म विकास निगम' की स्थापना अप्रैल, 1980 में एक केन्द्रीय एजेंसी के रूप में की गयी।
  • बाद में पूर्व स्थापित फ़िल्म वित्त निगम तथा 'भारतीय मोशन पिक्चर्स निर्यात निगम' को भी इसमें मिला दिया गया।
  • निगम का मुख्य उद्देश्य फ़िल्म उद्योग के समंवित विकास के लिए योजना बनना तथा उनका विकास करना है।
  • फ़िल्मोत्सव निदेशालय, जो कि पहले 'सूचना प्रसारण मंत्रालय का एक भाग था, को जुलाई 1981 में इस निगम को हस्तांतरित करा दिया गया।
  • यह निगम का मुख्य कार्य देश में अच्छे सिनेमाघरों के निर्माण को प्रोत्साहित करना है।
  • इन उद्देश्यों के लिए निगम निम्नलिखित कार्यों को करता है -
  1. कथाचित्रों एवं वृत्तचित्रों के निर्माण के लिए ऋण देना।
  2. फ़िल्म क्षेत्र के प्रतिष्ठित व्यक्तियों द्वारा निर्देशित सारी योजनाओं को वित्तीय सहायता प्रदान करना।
  3. विख्यात विदेशी फ़िल्म निर्माताओं को फ़िल्म निर्माण में सहयोग और वित्तीय सहायता प्रदान करना।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=राष्ट्रीय_फ़िल्म_विकास_निगम&oldid=269364" से लिया गया