तिकवांपुर  

तिकवांपुर को 'त्रिविक्रमपुर' के नाम से भी जाना जाता है। यह घाटमपुर तहसील, ज़िला कानपुर, उत्तर प्रदेश में यमुना नदी के बाएँ किनारे पर स्थित एक छोटा-सा ग्राम है। इसके पास ही 'अकबरपुर बीरबल' नाम का एक और छोटा-सा गाँव है, जिसके बारे में मान्यता है कि यहाँ पर बीरबल का जन्म हुआ था।

  • हिन्दी के प्रसिद्ध कवि भूषण इसी ग्राम के निवासी थे।
  • तिकवांपुर यमुना तट पर बसा हुआ था, जैसा कि भूषण ने स्वयं ही लिखा है-
'दुज कनौज कुल कस्यपी रतनाकर सुतधीर, बसत त्रिविक्रमपुर सदा तरनितनूजा तीर।[1]
  • भूषण के कथनानुसार 'वीर वीरबर से जहाँ उपजे कविवर भूप, देव बिहारीश्वर जहाँ विश्वेश्वर तदरूप' अर्थात् त्रिविक्रमपुर में बीरबल के समान महाबली राजा और कवि हुए तथा वहाँ काशी के विश्वनाथ महादेव के समान बिहारीश्वर महादेव का मंदिर था।
  • यह बीरबल अकबर के दरबार के प्रसिद्ध कवि और मंत्री बीरबल ही जान पड़ते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

ऐतिहासिक स्थानावली |लेखक: विजयेन्द्र कुमार माथुर |प्रकाशक: राजस्थान हिन्दी ग्रंथ अकादमी, जयपुर |पृष्ठ संख्या: 399 |

  1. शिवराजभूषण, 26.
  • ऐतिहासिक स्थानावली | विजयेन्द्र कुमार माथुर | वैज्ञानिक तथा तकनीकी शब्दावली आयोग | मानव संसाधन विकास मंत्रालय, भारत सरकार

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

"http://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=तिकवांपुर&oldid=343828" से लिया गया