शुद्ध स्वर  

जब सा, रे, , , , , नि स्वरों में श्रुतियों का क्रम 4, 3, 4, 4, 3, 2, रहता है तो उन स्वरों को शुद्ध स्वर कहते हैं। इन शुद्ध स्वरों के पूरे नाम

  1. षड्ज
  2. ऋषभ
  3. गांधार
  4. मध्यम
  5. पंचम
  6. धैवत
  7. निषाद

उच्चारण तथा गायन की सुविधा के लिए इनमें से प्रत्येक का प्रथम अक्षर ले लिया गया है और इस प्रकार इनके संक्षिप्त नाम सा, रे, ग, म, प, ध, नि, रख लिए गए हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=शुद्ध_स्वर&oldid=209975" से लिया गया