आमिल  

आमिल या 'अमलगुज़ार' शब्द का प्रयोग भारत के इतिहास में सल्तनत काल के दौरान अधिक होता था। मुग़लकालीन शासन व्यवस्था में आमिल एक उच्च अधिकारी के रूप में शासन कार्य में योगदान देता था।

  • 'आमिल' का अर्थ था- "ग्रामों में भूमि कर वसूल कर अधिकारी।"
  • मुग़ल काल में ज़िले के प्रमुख राजस्व अधिकारी के रूप में कार्य करने वाला आमिल ‘खालसा भूमि’ से लगान एकत्र करता था।
  • इसको आय-व्यय की वार्षिक रिपोर्ट शाही दरबार में भेजनी पड़ती थी।
  • कोतवाल की अनुपस्थिति पर इसे न्यायिक कर्तव्यों का भी निर्वाह करना पड़ता था।
  • 'वितिकची' आमिल के सहयोगी के रूप में कार्य करता था, जिसका प्रमुख कार्य था, कृषि से जुड़े हुए काग़ज़ात एवं आंकड़े एकत्र करना।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=आमिल&oldid=523464" से लिया गया