तेरेसा द्वीप  

तेरेसा द्वीप एक सुनसान द्वीप है, जो अण्डमान-निकोबार द्वीप समूह में स्थित है। यहाँ की सस्ती और लोकप्रिय वस्तुएँ काफ़ी प्रसिद्ध हैं। वर्ष 2004 में आई सुनामी के बाद यह द्वीप दो भागों में बंट गया। लगभग 2043 लोगों की आबादी वाले इस द्वीप पर सुनामी की तबाही के बावजूद यहाँ के निवासियों ने स्वयं यहाँ की वस्तुओं के लिए एक स्थिर बाज़ार कायम किया है। टापू पर इन वस्तुओं के साथ-साथ यहाँ के लोगों की जीवन शैली को देखना एक अलग अनुभव है।

  • तेरेसा यद्यपि एक सुनसान द्वीप है, फिर भी यहाँ आने वाले पर्यटकों की संख्या बहुत अधिक है।
  • इस द्वीप पर अधिकतर पर्यटक पश्चिम देशों से आते हैं।
  • यहाँ पहुँचना थोड़ा मुश्किल अवश्य है, लेकिन सैलानी पोर्ट ब्लेयर से चोप्पर में सवार होकर लगभग डेढ़ घंटे का सफ़र तय कर तेरेसा द्वीप पहुँच सकते हैं। पर्यटक चाहें तो नेनकोय द्वीप होते हुए भी तेरेसा द्वीप जा सकते हैं, किंतु इसमें लगभग ढाई घंटे का समय लगेगा।
  • तेरेसा द्वीप अपनी लकड़ी और मिट्टी से बनाई हुई वस्तुओं के लिए बहुत प्रसिद्ध है। यहाँ लकड़ी के कैनोस और मिट्टी के बर्तन बनाये जाते हैं। इनकी सुन्दर और सस्ती चीजें पर्यटकों में काफ़ी लोकप्रिय है। ये सारी वस्तुएँ लघु उद्योग या कुटीर उद्योगी कारखानों में हाथ से बनाई जाती हैं।
  • तेरेसा द्वीप की एक और विशेषता यह भी है की 2004 में आई सुनामी के बाद यह दो हिसों में बट गया।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. तेरेसा द्वीप, निकोबार द्वीप समूह (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 11 जून, 2013।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"https://bharatdiscovery.org/bharatkosh/w/index.php?title=तेरेसा_द्वीप&oldid=342007" से लिया गया